मेक्सिको के खिलाफ बनेगी दीवार, रूस के मन में अमेरिका के लिए ज्यादा सम्मान होगा: ट्रंप

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

President-elect Donald Trump, accompanied by Vice President-elect Mike Pence, speaks during a news conference in the lobby of Trump Tower in New York, Wednesday, Jan. 11, 2017. (AP Photo/Evan Vucci)

 

न्यूयॉर्क: अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प देश के राष्ट्रपति के तौर पर चुने जाने के बाद बीते बुधवार की शाम पहली बार पत्रकारों से मुखातिब हुए. इस दौरान उन्होंने कहा कि मेक्सिको सरकार के साथ इस मामले में बातचीत अभी ठंडे बस्ते में पड़ी हुई है और उनकी सरकार जल्द ही मेक्सिको के साथ दीवार बनाने की अपनी योजना पर अमल करेगी ताकि अवैध तरीके से अमेरिका में आने वालों को बाहर रखा जा सके. वहीं उन्होंने कहा कि मेक्सिको इस दीवार पर आने वाले खर्च की भरपाई करेगा. छह महीने में अपने पहले औपचारिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ट्रम्प ने कहा, ‘‘हम दीवार बनाने जा रहे हैं.’’ उन्होंने उसपर ‘‘कांटेदार बाड़’’ लगाने से इनकार किया.

ट्रम्प ने कहा, ‘‘मैं मेक्सिको से अपनी बातचीत पूरी करने के लिए एक से डेढ़ साल का इंतजार सकता हूं और पद मिलते ही हम बातचीत शुरू कर देंगे. इसके लिए मैं इंतजार नहीं कर सकता. निर्वाचित उपराष्ट्रपति माइक पेंस तमाम संस्थानों से इसकी मंजूरी लेने के प्रयासों में जुटे हैं ताकि दीवार निर्माण शुरू हो सके.’’ मेक्सिको के खर्च पर अमेरिका और मेकिसको की सीमा पर दीवार बनाने के ट्रम्प के सबसे बड़े चुनावी वादे पर किए गए सवालों के जवाब में रिपब्लिकन नेता ने ये सारी बातें कहीं. मेक्सिको ने कहा है कि वह दीवार बनाने के लिए पैसे नहीं देगा.

हैकिंग पर 90 दिनों में विस्तृत रिपोर्ट

वहीं ट्रम्प ने इन्हीं बातों की फेहरिस्त में कसम खाते हुए कहा कि 20 जनवरी को शपथ ग्रहण करने के बाद वे 90 दिनों के भीतर हैकिंग रोकने के लिए व्यापक योजना लेकर आएंगे. उन्होंने यह दावा किया कि अमेरिका अपनी साइबर प्रॉपर्टी की सुरक्षा करने के लिए पूरी तरह तैयार नहीं है, जिसके कारण रूस और चीन जैसे और देश उसकी ऑनलाइन स्पेस पर हमला कर रहे हैं.

ट्रम्प ने कहा, ‘‘हम 90 दिनों के भीतर हैंकिग सुरक्षा पर विस्तृत रिपोर्ट लेकर आएंगे. यह बिल्कुल नई स्थिति है क्योंकि यूएन को सभी लोग हैक कर पा रहे हैं. इसमें रूस और चीन सहित सभी लोग शामिल हैं.’’ उन्होंने दावा किया कि उनके शासनकाल में रूस के मन में अमेरिका के लिए ज्यादा सम्मान होगा. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास कोई रीसेट बटन नहीं है. हम साथ में अच्छे होंगे या नहीं होंगे. मैं आशा करता हूं कि हमारी आपस में बने, लेकिन हो सकता है ना भी बने, क्योंकि यह भी संभव है.’’

आगे की बातों में ट्रम्प ने जोर देते हुए कहा कि वे ‘भागवान ने अबतक जितने लोगों को बनाया है उनमें वे सबसे ज़्यादा रोज़गार पैदा करने वाले होंगे’. उन्होंने इसका भी ब्यौरा दिया कि निजी कंपनियों के जरिए वे कितनी नई नौकरियां देश में वापस लाने में सफल रहे हैं.
ट्रम्प ने कहा, ‘‘भागवान ने अबतक जितने लोगों को बनाया है उनमें मैं सबसे ज़्यादा रोज़गार पैदा करने वाले होउंगा और मैं सच कह रहा हूं, मैं इसपर कड़ी मेहनत करने वाला हूं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें कुछ और चीजें भी चाहिए. थोड़े से भाग्य के अलावा, लेकिन मुझे लगता है कि हम इसमें अच्छा काम करने वाले हैं. और हमने जो किया है, मुझे उसपर बहुत गर्व है.’’ ट्रम्प ने कहा कि कई कार कंपनियां वापस आने वाली हैं.

ट्रम्प ने कहा, फोर्ड ने भी मैक्सिको में अरबो डॉलर की लागत से बनने वाली फैक्टरी की योजना रद्द कर दी है. वह मिशिगन आ रही है, संभवत: मौजूदा फैक्टरी को ही बड़ा करेगी.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *