राष्ट्रपति बराक ओबामा का विदाई भाषण: जानिए 10 बड़ी बातें

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

President Barack Obama wipes his tears as he speaks at McCormick Place in Chicago, Tuesday, Jan. 10, 2017, giving his presidential farewell address. (AP Photo/Charles Rex Arbogast)

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपने विदाई भाषण में देश में लोकतंत्र को नस्लवाद, असमानता और नुकसानदेह राजनीतिक माहौल से खतरा बताते हुए अमेरिकियों से इसकी रक्षा के लिए एकजुट होने का एलान किया.

खास बात ये है कि ओबामा अपनी आखिरी स्पीच में तब भावुक हो गए जब लोगों ने- ‘चार साल और’ के नारे लगाए

अपनी फेयरवेल स्पीच में ओबमा ने अपनी पत्नी मिशेल और बेटी का शुक्रिया अदा किया और उनके लिए तारीफ के शब्द कहे तो पत्नी मिशेल और बेटी की आंखें छलक गईं.

ओबामा की 10 बड़ी बातें:-

-ओबामा ने अपने विदाई भाषण में कहा कि जब हम भय के सामने झुक जाते हैं तो लोकतंत्र प्रभावित हो सकता है. इसलिए हमें नागरिकों के रूप में बाहरी आक्रमण को लेकर सतर्क रहना चाहिए. हमें अपने उन मूल्यों की रक्षा करनी चाहिए जिनकी वजह से हम वर्तमान दौर में पहुंचे हैं.

-ओबामा ने अफसोस जताया कि वर्ष 2008 में देश के पहले अश्वेत राष्ट्रपति के रूप में उनके ऐतिहासिक चुनाव के बाद भी ‘‘नस्लवाद हमारे समाज में ताकतवर और अक्सर विभाजनकारी ताकत के रूप में बरकरार है.’

-ओबामा ने कहा कि वह मुस्लिम अमेरिकियों के खिलाफ भेदभाव को खारिज करते हैं. उन्होंने कहा कि वे लोग भी उतने ही राष्ट्रभक्त हैं जितने हम हैं. उनकी इस टिप्पणी का लोगों ने खासा स्वागत किया.

Supporters listen as President Barack Obama speaks at McCormick Place in Chicago, Tuesday, Jan. 10, 2017, giving his presidential farewell address. (AP Photo/Nam Y. Huh)

-ओबामा ने कहा कि उन्होंने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को ठोस कानूनी आधार प्रदान करने के लिए काम किया. यही वजह है कि हमने प्रताड़ना को समाप्त किया, निगरानी से जुड़े अपने कानूनों में सुधार के लिए काम किया ताकि निजता और नागरिक स्वतंत्रता की रक्षा हो सके. उन्होंने कहा कि इस वजह से वह मुस्लिम अमेरिकियों के खिलाफ भेदभाव को खारिज करते हैं.

-ओबामा ने कहा कि हम सब को मिलकर, भले ही हम किसी भी पार्टी के हों, अपने लोकतांत्रिक संस्थानों के पुनर्निर्माण पर जोर देना चाहिए. जब विकसित लोकतंत्रों में मतदान का प्रतिशत कम हो तो हमें मतदान को कठिन नहीं बल्कि आसान बनाना चाहिए.

-ओबामा ने कहा कि जब हमारे संस्थानों में भरोसा कम हो तो हमें अपनी राजनीति में धन के नुकसानदेह प्रभाव को कम करना चाहिए और पारदर्शिता के सिद्धांत और लोक सेवा में नैतिकता पर बल देना चाहिए.

-ओबामा ने कहा, ‘‘हमारे सैनिकों, खुफिया अधिकारियों, कानून प्रवर्तन अधिकारियों और उनका सहयोग करने वाले राजनयिकों के असाधारण साहस के चलते कोई भी विदेशी आतंकी संगठन पिछले आठ साल में हमारी धरती पर किसी हमले की सफल योजना बनाने और उसे अंजाम देने में विफल रहा है.

-उन्होंने कहा कि आईएसआईएस को नष्ट कर दिया जाएगा और अमेरिका पर खतरा पेश करने वाला कोई भी सुरक्षित नहीं रहेगा.

-ओबामा ने कहा, ‘‘हमने ओसामा बिन लादेन समेत हजारों आतंकियों को खत्म किया है. ईएसआईएल के खिलाफ हम जिस वैश्विक गठबंधन का नेतृत्व कर रहे हैं, उसने आईएसआईएल के कई नेताओं को मार गिराया है, उनसे आधा इलाका वापस लिया है.

-जलवायु परिवर्तन की समस्या पर काबू पाने के संदर्भ में ओबामा ने कहा, ‘‘महज आठ साल में, हमने विदेशी तेल पर अपनी निर्भरता को आधा किया है और नवीकरणीय उर्जा पर हमारी निर्भरता को दोगुना किया है. हम विश्व को एक ऐसे समझौते तक लेकर गए, जिसने इस ग्रह को बचाने का वादा किया है.’’ ओबामा ने चेतावनी देते हुए कहा कि ग्लोबल वार्मिंग की सच्चाई को नकारना आने वाली पीढ़ियों के साथ विश्वासघात करने जैसा है.
आपको बता दें कि राष्ट्रपति पद पर ओबामा का कार्यकाल 20 जनवरी को समाप्त होगा और रिपब्लिकन पार्टी के डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार संभालेंगे. अपने भाषण के दौरान ओबामा भावुक भी हुए.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *