Home खेल India vs England: 246 रन से जीता भारत ,लेकिन टीम इंडिया ने बनाये कई अनूठे रिकार्ड्स

India vs England: 246 रन से जीता भारत ,लेकिन टीम इंडिया ने बनाये कई अनूठे रिकार्ड्स

2 second read
0
0
28

India vs England: 246 रन से जीता भारत ,लेकिन टीम इंडिया ने बनाये कई अनूठे रिकार्ड्स

नई दिल्ली: राजकोट टेस्ट में बमुश्किल मैच को ड्रॉ करा पाई विराट कोहली ब्रिगेड को विशाखापटनम में राहत मिली, जब उसने इंग्लैंड को 246 रन के विशाल अंतर से हरा दिया. इसी के साथ टीम इंडिया ने सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है. इस बड़ी जीत के साथ टीम इंडिया मोहाली में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए ऊंचे मनोबल के साथ जाएगी. वाइजैग में टीम इंडिया और इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए, तो कुछ में वह चूक गए. आर अश्विन ने तो श्रीलंका के स्पिनर रंगना हेराथ को पीछे छोड़ा और नंबर वन पर आ गए. हम आपको इन्हीं आंकड़ों से रूबरू करा रहे हैं…

अश्विन फिफ्टी-पंजेके मामले में कपिल के बाद दूसरे भारतीय
रविचंद्रन अश्विन ने एक टेस्ट मैच में 50 रन और 5 विकेट लेने का कारनामा चौथी बार किया है. अब वह महान ऑलराउंडर कपिल देव के बाद ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय बन गए हैं. उन्होंने विशाखापटनम टेस्ट की पहली पारी में 50 रन बनाने के बाद 5 विकेट भी झटके थे.

साल में सर्वाधिक विकेट लेने के मामले में पहले नंबर पर
अश्विन ने न केवल कपिल की बराबरी की, बल्कि इस वर्ष टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में वह पहले नंबर पर आ गए हैं. अश्विन ने विशाखापटनम टेस्ट को मिलाकर 55 विकेट हासिल कर लिए हैं. गौरतलब है कि इस सूची में श्रीलंका के स्पिनर रंगना हेराथ दूसरे नंबर पर हैं, जिन्होंने 54 विकेट लिए हैं. हालांकि हेराथ ने अश्विन से एक मैच कम खेला है.
भारतीयों के बीच चौथे नंबर पर अश्विन
अश्विन ने 22वीं बार एक पारी में 5 या अधिक विकेट लिया है. टेस्ट क्रिकेट में एक पारी में 5 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में अब वह चौथे नंबर पर पहुंच गए हैं. उनसे ऊपर अनिल कुंबले, कपिल देव और हरभजन सिंह है.

भारत में कोहली के एक टेस्ट में सर्वाधिक रन
विराट कोहली ने वाइजैग में न केवल पहली पारी में शतक बनाया, बल्कि दूसरी पारी में भी शतक के करीब पहुंच गए थे. दूसरी पारी में उन्होंने करियर की 13वीं फिफ्टी बनाई. इस मैच की दोनों पारियों को मिलाकर विराट कोहली ने 248 रन बनाए, जो भारत में खेले किसी टेस्ट में उनके द्वारा बनाए गए सबसे ज्यादा रन हैं. हालांकि विदेशी मैदानों को मिलाकर उनका एक मैच का बेस्ट 256 रन (115, 141) है, जो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में दिसबंर, 2014 में बनाया था.

अनूठे रिकॉर्ड से चूके विराट, बराबरी की
विराट ने विशाखापटनम टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी में 167 रन बनाए थे और दूसरी पारी में 81 रन पर ही आउट हो गए. इस तरह दूसरी पारी में शतक से चूक गए. अन्यथा नया रिकॉर्ड बना लेते. विराट कोहली से पहले पांच भारतीय बल्लेबाज ऐसे रहे, जो अपने 50वें टेस्ट की किसी एक पारी में ही शतक लगा पाए थे. इनमें पाली उमरीगर (112), गुंडप्पा विश्वनाथ (124, 31), सुनील गावस्कर (13, 221), कपिल देव (13, 100*) और वीवीएस लक्ष्मण (178 रन) शामिल हैं.

बतौर कप्तान शतकों का रिकॉर्ड
कप्तान कोहली ने कप्तान के रूप में शतक बनाने के मामले में सचिन तेंदुलकर की बराबरी कर ली है. उन्होंने कप्तान के तौर पर अब तक 7 शतक लगा दिए हैं, जबकि सचिन के नाम भी 7 शतक ही हैं. कोहली फिलहाल मो. अजहरुद्दीन (9 शतक) और सुनील गावस्कर (11 शतक) से पीछे हैं.

विराट के 5 मैच, 6 फिफ्टी
वाइजैग को विराट कोहली का पसंदीदा मैदान कहना गलत नहीं होगा. 50वां टेस्ट मैच खेल रहे कोहली ने पहले दिन शानदार बल्लेबाजी की और राजकोट में हिटविकेट होने की निराशा को पीछे छोड़ते हुए 14वां टेस्ट शतक लगाया था, वहीं दूसरी पारी में भी फिफ्टी बनाई. कोहली ने यहां सभी प्रारूपों को मिलाकर 5 मैच खेल लिए हैं और सभी में फिफ्टी लगाने में कामयाब रहे हैं.

14 साल बाद तीसरी शतकीय साझेदारी
विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने विशाखापटनम में पहली पारी में इंग्लैंड के खिलाफ 2002 के बाद से भारत की तरफ से तीसरे विकेट के लिए पहली शतकीय साझेदारी (226) करके रिकॉर्ड बनाया था. इससे पहले सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ ने तीसरे विकेट के लिए इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में 150 रनों की साझेदारी की थी.

16 साल बाद टॉप तीन का सबसे कम स्कोर
टीम इंडिया के ऊपरी क्राम के 3 बल्लेबाजों ने साल 2000 के बाद विशाखापटनम टेस्ट की दूसरी पारी में 14 रन का सबसे कम स्कोर बनाया, जब विजय (3) राहुल (10) और पुजारा (1) कुछ खास किए बिना लौट गए. चेतेश्वर पुजारा ने तो टेस्ट डेब्यू के बाद तो 16वीं बार बोल्ड आउट हुए.

5 साल के दौरान कोई टीम नहीं टाल पाई फॉलोऑन
साल 2011 के बाद से टीम इंडिया ने जब-जब पहली पारी में 400 से अधिक रन बनाया है, तो विरोधी टीम फॉलोऑन नहीं टाल पाई है. गौरतलब है कि इंग्लैंड की टीम भी विशाखापटनम टेस्ट में 1 रन से फॉलोऑन चूक गई थी. हालांकि टीम इंडिया ने उन्हें फॉलोऑन नहीं खिलाया.

कुक की सबसे धीमी फिफ्टी
इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक ने मैच बचाने की कोशिश की और चौथे दिन संभलकर खेले. इस दौरान उन्होंने फिफ्टी बनाने के लिए 171 गेंदें खेल डालीं, जो उनके करियर की सबसे धीमी फिफ्टी रही. इससे पहले उन्होंने 164 गेंदों पर दो बार फिफ्टी लगाई थी. इसके साथ ही कुक ने 11वीं बार चौथी पारी में फिफ्टी लगाई.

हसीब हमीद का अनूठा रिकॉर्ड
इंग्लैंड के ओपनर बल्लेबाज हसीब हमीद ने सबसे कम उम्र में डेब्यू का रिकॉर्ड बनाने के साथ ही एक और रिकॉर्ड अपने नाम कर बैठे. उन्होंने वाइजैग में चौथी पारी में 144 गेंदों पर 25 रन बनाए. इसके साथ ही वह 20 साल से कम की उम्र में चौथी पारी में 100 या उससे ज्यादा गेंदें खेलने वाले चौथे बल्लेबाज बन गए. उनसे पहले पाकिस्तान के जाहिद फजल (18 वर्ष 53 दिन), बांग्लादेश के नफीस इकबाल (19 वर्ष 75 दिन) और आर्ची जैक्सन (19 वर्ष 149 दिन) यह कारनामा कर चुके हैं.

Load More Related Articles
Load More By Arun Kumar
Load More In खेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

पंजाब में आप का बहुमत तो दलित होगा मुख्यमंत्री : अरविन्द केजरीवाल

जालंधर: आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल का कहना है कि अगर पंजाब में होने वाले विध…